भारत ने कराची हमले की निंदा की, पाकिस्तान की साजिश की कहानी खारिज की

डिजिटल डेस्क, वड़ोदरा। गुजरात राज्य के वड़ोदरा शहर में स्थित पारूल यूनिवर्सिटी की स्थापना से लेकर आज दिन तक 1500 से ज्यादा विद्यार्थियों को 1500 से अधिक कंपनियों में कैंपस प्लेसमेंट मिला है।  2020 में पास होने वाले 1000 से अधिक विद्यार्थियों को 400 से ज्यादा कंपनियों में प्लेसमेंट मिला है, और 2019 में पास हुए 1500 से ज्यादा विद्यार्थियों को 600 से अधिक कंपनियों में जॉब मिली है।  

पारुल यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों को आर्म फाॅर्स  और सरकारी जॉब मिले, उस हेतु यह विशेष तौर पर यूपीएससी सेल और आर्म फाॅर्स मोटिवेशनल सेल की स्थापना की गई है, जिसके चलते प्रतिवर्ष यूनिवर्सिटी के 100 से ज्यादा विद्यार्थी क्वालिफाइड होते हैं।  यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी फॉर्चून कंपनी में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इस साल इंजीनियरिंग में सर्वोत्तम पैकेज 18 लाख और औसतन पैकेज 3.5, मैनेजमेंट में सर्वोत्तम पैकेज 12.4 लाख, औसतन पैकेज 4.5 लाख, साइंस में सर्वोत्तम पैकेज 6.2 लाख औसतन पैकेज 2.5 लाख, बीसीए एमसीए में सर्वोत्तम पैकेज 12.4 लाख, औसतन पैकेज 3 लाख, सोशल वर्क में सर्वोत्तम पैकेट 2.8 रहा था। 

फेसबुक गूगल अमेज़न एप्पल माइक्रोसॉफ्ट सेप  जैसी फॉर्चून 500 कंपनियों में पारुल यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। 

पारुल यूनिवर्सिटी का विद्यार्थी गुंजन पंड्या फेसबुक में डाटा इंजीनियर है। धैर्य किकानी गूगल में भूतपूर्व सप्लाई चैन मैनेजर चुके हैं, और जावेद अमेज़न में क्लाउड मैनेजर के तौर पर जॉब कर रहे हैं।

यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों को विभिन्न कंपनियों द्वारा ऊंचे पैकेज ऑफर किए गए हैं जैसे कि आईओसीएल द्वारा 12.5 लाख, एक्स्ट्रा मार्क्स द्वारा 12.5 लाख बायजुस  द्वारा 10 लाख, कोलगेट द्वारा 2.5 लाख, जारो एजुकेशन द्वारा 7.5 लाख, कम्युनिका एड्स द्वारा 7.5 लाख

विश्वविद्यालय की शिक्षण पद्धति व्यावहारिक कौशल और छात्रों की तकनीकी क्षमताओं को बढ़ावा देने और विकसित करने पर केंद्रित है. विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डॉ देवांशु जे पटेल ने कहा, यह हमारे पाठ्यक्रम और हमारी शिक्षण पद्धतियों का मुख्य केंद्र है जिससे दुनिया भर की कुछ अग्रणी कंपनियों में अपने कैरियर की तैयारी के लिए छात्र की व्यावसायिक दक्षताओं का विकास और पोषण होता है। 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *